वनस्पति और पशुवर्ग

द्वीपों के वनस्पतियों में केले, वाजा, (मूसाप्रदिसिआका), कोलोकैसिया, चैंबू (कोलोकैसिया एंटीक्यूवरम) ड्रमस्टिक मोरारककेय (मोरिंगा ओलीफेरा), रोटी फलों, चाक्का (आर्टोकारपस इन्सिसा) जंगली बादाम (टर्मिनलिया कैटप्पा) शामिल हैं जो बड़े पैमाने पर उगाए जाते हैं। कन्नी (स्केएवोलकेनिंगिल), पुन्ना, (कैलाफ्ल्यिमोनोफिलम), चावोक (काजूरीना इक्विसीतिफ़ोलिया), चेरानी (द्सेस्पिया पॉपुलनेया) जैसे कुछ छोटे जंगलों के पौधे पूरे द्वीप में असमान रूप से उगते हैं। नारियल, थेन्गा (कैकोस न्यूसीफेरा) लक्षद्वीप में आर्थिक महत्व का एकमात्र फसल है। ये अलग-अलग किस्मों में पाए जाते हैं जैसे कि लैक्टिविटी सूक्ष्म, लैक्टिडिएव सामान्य, हरे रंग का बौना इत्यादि। समुद्र घास के दो अलग-अलग किस्मों को समुद्र तटों के आस-पास देखा जाता है। वे थैलासिया हेमप्रिचिन और साइमोडोसेआ आइसोतिफोलिया के रूप में जाना जाता है। वे समुद्र के कटाव और समुद्र तट तलछट के आंदोलन को रोकते हैं।

समुद्र का समुद्री जीवन काफी व्यापक है और कंडोल के लिए कठिन है। आमतौर पर देखा हुआ रीढ़ है मवेशी और पोल्ट्री। सामान्यतः लक्षद्वीप में पाए जाने वाले महासागर पक्षी थारथसी (स्टर्नना फस्कटाता) और करिफेटु (एनस ठोस) हैं। वे आम तौर पर निर्जन द्वीपों में से एक हैं जिन्हें पीआईटीटीआई कहा जाता है। यह द्वीप एक पक्षी अभयारण्य के रूप में घोषित किया गया है।

द्वीप के आर्थिक बिंदु से मोलस्कैन रूप भी महत्वपूर्ण हैं। धन कोरी (साइप्रिया मोनिटा) भी उथले लैगून और द्वीपों के चट्टानों में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। यहां पाए गए अन्य साइप्र्रे साइप्रका तल्पा और साइप्रसा मैक्यलिफररा हैं केकड़ों में, साधु केकड़ा सबसे आम है। रंगीन मूंगा मछली जैसे कि तोता मछली (कैलीडॉन स्र्ड्डीडस), तितली मछली (चेटोडोन्ग अरुगा), सर्जन मछली (एकांतुरुस लाइनोटस) भी काफी मात्रा में पाए जाते हैं।